उज्जैनदेवासदेशमध्य प्रदेश

स्वच्छ भारत अभियान सिर्फ संकल्प तक सीमित

स्वच्छ भारत अभियान सिर्फ संकल्प तक सीमित
देवास। स्वच्छ भारत अभियान को देश में 3 साल हो गए पर देवास के तारणी नगर वार्ड क्रमांक 25 में आज भी गंदगी का अंबार है और देवास शहर में यह पहला एक ही वार्ड नहीं है आज भी कई सारे ऐसे वार्ड हैं जहां पर गंदगी का नजारा किसी भी समय आसानी से देखा जा सकता है भले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत का संकल्प लिया हो लेकिन देखने से ही लगता है कि उन्ही के नुमाईदे शायद ही उनके संकल्प को पूरा होने दे। रामनगर चौराहा से निकालने वाले आम लोगों के साथ वार्ड के रहवासी बताते हैं कि वार्ड पार्षद से बार बार कहने पर भी वह गली में सफाई का ध्यान नहीं देते जो वार्ड वासियों को परेशानी का सबब बना हुआ हैं। क्षैत्र में जमा हो रही गंदगी और और गंदी बू से हम परेशान हैं जो बीमारियों को घर बन रहा है जबकि साफ सफाई के लिए कोई विशेष इंतजाम नहीं किए गए। इस वजह से वार्ड के अधिकांश स्थानों में गंदगी के ढेर लगे देखे जा सकते हैं। इन गंदगी के ढेरों के कारण लोगों को बीमारियों का खतरा बना हुआ है. इसके बावजूद भी निगम इसको गंभीरता से नहीं ले रहा है। स्वच्छता पखवाड़े के दौरान शहर में कई स्वच्छता कार्यक्रम आयोजित किए गए वह भी गंदगी के ढेर के आगे सिर्फ और सिर्फ ढगोसले ही साबित हुए।