Health

दुनिया भर में  16 अक्टूबर को वर्ल्ड फूड डे मनाया जाता है. हालांकि बहुत लोगों को इस बात की गलतफहमी है कि ये दिन खाने-पीने की चीजों से जुड़ा है. आइए जानते हैं कि वर्ल्ड फूड डे आखिर क्यों मनाया जाता है और इसके पीछे क्या उद्देश्य है.

 

क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड फूड डे?

वर्ल्ड फूड डे भूख से पीड़ित लोगों के लिए जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से मनाया जाता है. इस एक दिन स्थानीय स्तर पर हर किसी से भुखमरी के खिलाफ कदम उठाने की अपील की जाती है.  वर्ल्ड फूड डे पर गैर सरकारी संगठनों, मीडिया, आम जनता और सरकार द्वारा कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं ताकि लोगों को भूख पीड़ितों के बारे में जागरूक किया जा सके.

 

कब हुई शुरूआत?

16 अक्टूबर, 1945 के दिन संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन  (FAO) की स्थापना की गई थी. इस संगठन के सदस्य देशों ने 16 अक्टूबर 1981 को वर्ल्ड फूड डे मनाने की शुरुआत की. इस साल वर्ल्ड फूड डे की थीम है, ‘Grow, Nourish, Sustain. Together. Our actions are our future.’

 

कोरोना वायरस पीड़ितों को समर्पित

FAO की वेबसाइट के अनुसार इस साल का वर्ल्ड फूड डे कोरोना वायरस के पीड़ितों को समर्पित है. इस साल लोगों को इस बात के लिए जागरुक किया जा रहा है कि इस महामारी से लड़ने के लिए खाद्य और कृषि  कितना जरूरी है. संगठन की तरफ से कमजोर तबके के लोगों के लिए वैश्विक सहयोग और एकजुटता के लिए मदद की अपील की गई है.