slider

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर कोरोना वायरस के मामलों में तेज़ी आई है और बीते दिन नए मामलों का आंकड़ा 6 हजार को पार कर गया. इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण को लेकर सख्त निर्देश दिए हैं.

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर कोरोना वायरस के मामलों में तेज़ी आई है और बीते दिन नए मामलों का आंकड़ा 6 हजार को पार कर गया. इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण को लेकर सख्त निर्देश दिए हैं. यूपी सीएम ने बीते दिन 13 जिलों की स्थिति पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की. योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में टेस्टिंग बढ़ाने, ट्रैकिंग करने पर ज़ोर देने को कहा है.

कोरोना की रोकथाम के लिए यूपी सीएम ने दिए ये निर्देश…

• प्रभावी जिलों में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग बढ़ाई जाए

• कंट्रोल सेंटर की उपयोगिता बढ़े, ताकि संक्रमण रोका जाए

• मास्क ना लगाने वालों पर जुर्माना लगे

• स्कूलों में अगर छुट्टी करनी है, तो उसपर डीएम फैसला लें

• प्रभावित जिलों में आवागमन को नियंत्रित किया जाए

• टेस्टिंग में RT-PCR पर ज़ोर दिया जाए, 50 फीसदी टेस्ट यही हो

• रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, बस अड्डों पर एंटीजन टेस्ट हों

आपको बता दें कि यूपी में लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर, वाराणसी, गोरखपुर, मेरठ, गौतमबुद्ध नगर, झांसी, बरेली, गाजियाबाद, आगरा, सहारनपुर, मुरादाबाद जैसे जिलों में कोरोना के मामलों में तेज़ी आई है.

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच लखनऊ में अब पार्क को लेकर पाबंदियां लगा दी गई हैं. लखनऊ में अब सुबह 7 से 10, शाम को 4 से 8 बजे तक ही पार्कों में प्रवेश मिलेगा. पार्क में मास्क पहनना जरूरी होगा. साथ ही 65 वर्ष से ऊपर के लोगों, गर्भवती महिलाओं, 10 साल से कम उम्र के बच्चों को प्रवेश नहीं मिलेगा.

बता दें कि यूपी में बीते दिन 6 हज़ार से अधिक केस आए हैं, जो इस साल का सबसे अधिक आंकड़ा है. सिर्फ लखनऊ में ही 1300 से ज्यादा केस सामने आए थे, अब लखनऊ में ही 9 हजार के करीब एक्टिव केस हो गए हैं. लखनऊ के बाद प्रयागराज, कानपुर, वाराणसी में सबसे अधिक एक्टिव केस की संख्या है.