slider

ये मामला मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले के चरगवां थाना क्षेत्र के सुनवारा गांव का है. जहां धूप सिंह लोधी ने अपने खेत मे लगे पीपल के पेड़ से लटककर फांसी लगा ली. कुछ दिन पहले ही धूप सिंह की 22 वर्षीय बेटी की लगन हुई थी और 8 मई को शादी होना थी.

जबलपुर के चरगवां थाना क्षेत्र में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है, गांव में रहने वाले किसान धूप सिंह लोधी की बेटी की शादी ठीक चार दिन पहले होनी थी. लेकिन इसके पहले ही धूप सिंह लोधी की लाश, खेत मे स्थित एक पेड़ पर लटकी हुई मिली है. इस घटना से शादी की खुशियां मातम में बदल गईं हैं और पूरे गांव में शोक छा गया गया.

जिस घर में शादी की शहनाई गूंजनी थी, वहां अब करुण क्रन्दन सुनाई दे रहा है, जिस इंसान को चार दिन बाद अपनी बेटी को डोली में बिठाकर विदा करना था अब उसकी अर्थी उठ रही है. यह घटना किसी भी इंसान की आंखों में आंसू ला सकती है. मामला चरगवां थाना क्षेत्र के सुनवारा गांव की है. जहां धूप सिंह लोधी ने अपने खेत मे लगे पीपल के पेड़ से लटककर फांसी लगा ली. कुछ दिन पहले ही धूप सिंह की 22 वर्षीय बेटी की लगन हुई थी और 8 मई को शादी होना थी.

लगन के बाद से उनके पास किसी के लगातार फोन आ रहे थे, जिससे धूप सिंह परेशान थे. बीती शाम वे अपने खेत जाने के लिए घर से निकले , लेकिन रात को घर नहीं पहुंच सके. जिसके बाद सुबह परिवार के सदस्य उन्हें तलाश करने खेत पहुंचे, जहां धूप सिंह का शव एक पेड़ के सहारे लटका हुआ मिला. घटना की जानकारी लगते ही पूरे परिवार में शोक का माहौल बन गया और सभी लोग खेत पर पहुंच गए.

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया. आखिर किसान धूप सिंह लोधी ने फांसी क्यों लगाई अभी इसका खुलासा नहीं हुआ है, पुलिस ने उनका मोबाइल जब्त कर जांच शुरू कर दी है.