slider

उत्तर प्रदेश के कानपुर में कोरोना के कारण पति को खोने वाली विधवा के साथ घिनौनी वारदात हुई है. पीड़िता के साथ पहले देवर ने रेप किया, फिर जब पीड़िता पुलिस से रेप की शिकायत करके घर लौटी तो देवर ने अपनी बहनों के साथ भाभी को सरेआम घसीट-घसीटकर पीटा. पिटाई का वीडियो वायरल हो रहा है.

दरअसल, कानपुर के विनायक पुर में सरेआम पीटी जा रही इस पीड़िता के साथ उसके देवर ने रेप की वारदात की है. पीड़िता के पति की कुछ दिन पहले ही कोरोना से मौत हो गई थी. पीड़िता ने रेप की शिकायत पुलिस में की तो देवर और उसकी बहनों ने उसकी पिटाई कर दी.

बताया जा रहा है कि पीड़िता के पति की कोरोना की दूसरी लहर में 26 मई को मौत हो गई थी. भाई की मौत के बाद भाभी को अकेला पाकर देवर ने उसका रेप कर डाला था. इसके बाद पीड़िता जब एफआईआर लिखाने गई तो देवर से लेकर उसकी बहनें तक… सब उस पर टूट पड़ीं.

पीड़िता का एक आठ साल का बेटा है. आरोप है कि देवर और उसकी बहनों ने पीड़िता के साथ ही बच्चे की भी पिटाई की. इस मामले में स्थानीय कल्याणपुर पुलिस का रोल भी सबसे शर्मनाक रहा. पीड़ित महिला जब अपनी एफआईआर लिखाने थाने पहुंची तो पुलिस उसकी रिपोर्ट लिखने की जगह उस पर समझौते करने का दबाव डालती रही.

आखिर ये मामला जब डीसीपी वेस्ट संजीव त्यागी के सामने पहुंचा तो उन्होंने तुरंत रेप की एफआईआर लिखाने का आदेश दिया, लेकिन महिला की रेप वाली एफआईआर लिखी जाती, उसके पहले ही देवर और उसकी बहनों ने उसको जमकर पीट दिया. पुलिस ने आरोपी देवर और उसकी बहनों पर मारपीट के साथ रेप की अलग-अलग एफआईआर दर्ज की है.

पीड़िता का कहना है कि मेरे पति की कोरोना से मौत हो गई थी, उसके बाद मेरे देवर ने मेरा रेप कर डाला, जब मैंने एफआईआर लिखने की बात की तो बोला शादी करेंगे, लेकिन इसके बाद घर से निकालने लगा तो मैंने थाने में शिकायत की, तो उन्होंने कुछ नहीं लिया, अब कमिश्नर साहब को एप्लिकेशन दी तो एफआईआर लिखने का आदेश दिया, जब हम घर पहुंचे तो घर के बाहर ही मारने लगे.

वहीं, डीसीपी वेस्ट संजीव त्यागी ने कहा कि एक महिला ने शिकायत की थी, उसके देवर ने उसके साथ रेप किया, इसके बाद उसके साथ घरवालों ने मारपीट की, इसमें मारपीट की एफआईआर लिखी गई है, इसके साथ रेप की भी एफआईआर अलग से लिखी गई है, अब मामले की जांच करके आरोपियों पर कार्यवाही की जायेगी.