HealthMainविदेशविशेष

कोरोना के मामलों में कमी, मौत में भी गिरावट लेकिन WHO ने दी चेतावनी

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है कि कोविड-19 के मामले पूरी तरह से सामने नहीं आ रहे हैं क्योंकि कई देशों ने अपनी जांच में कमी कर दी है और वायरस की निगरानी के लिए ‘प्रोटोकॉल’ का पालन नहीं हो रहा।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बुधवार को कहा कि दुनिया भर में कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौतों में पिछले सप्ताह 15 फीसदी की गिरावट आई है जबकि संक्रमण के नए मामले पहले के मुकाबले नौ प्रतिशत कम दर्ज हुए। कोविड-19 महामारी के ताजा साप्ताहिक मूल्यांकन में संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने बताया कि पिछले सप्ताह दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमण के 53 लाख मामले आए हैं जबकि संक्रमण से 14,000 लोगों की मौत हुई है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र को छोड़कर दुनिया के सभी क्षेत्रों में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में गिरावट आ रही है।  अफ्रीका में कोविड से होने वाली मौतों में 183 प्रतिशत से ज्यादा की वृद्धि हुई है जबकि यूरोप में इनमें करीब एक तिहाई (33 फीसदी) और अमेरिका में 15 फीसदी गिरावट दर्ज की गई है।

इसके बावजूद, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है कि कोविड-19 के मामले पूरी तरह से सामने नहीं आ रहे हैं क्योंकि कई देशों ने अपनी जांच में कमी कर दी है और वायरस की निगरानी के लिए ‘प्रोटोकॉल’ का पालन नहीं कर रहे हैं जिससे वास्तविकता से बहुत कम मामले सामने आ रहे हैं।

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि पूरी दुनिया में इस वक्त संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले कोरोना वायरस के ओमीक्रोन बीए.5 स्वरूप के आ रहे हैं और दुनिया भर में संक्रमण के करीब 70 फीसदी मामले इसी के हैं। पिछले महीने ‘जीनोम सीक्वेंसिंग’ की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में 99 प्रतिशत मामले ओमीक्रोन के अलग-अलग स्वरूप के हैं।

इस सप्ताह की शुरुआत में फाइजर ने अमेरिकी नियामक अधिकारियों से कहा था कि वे कंपनी के नए टीके को मंजूरी दे दें, जिनकी मदद से ओमीक्रोन के नये स्वरूपों बीए.4 और बीए.5 से बचाव संभव है।  फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने टीका निर्माताओं को आदेश दिया था कि वे अपने टीकों में बदलाव करके उन्हें बीए.4 और बीए.5 से लड़ने योग्य बनाएं। इस बीच, ब्रिटेन में नियामकों ने मॉडर्ना के कोविड-19 टीके के नये संस्करण को पिछले सप्ताह मंजूरी दे दी जो कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के उपस्वरूप बीए.1 से बचाव करने में सक्षम है।