slider

देश की पहली कॉरपोरेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस ट्रेन सोमवार से बंद हो रही है. ट्रेन में यात्रियों की कमी की वजह से इसे अगले आदेश तक बंद किया गया है. आईआरसीटीसी के मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अश्विनी श्रीवास्तव के मुताबिक संक्रमण की वजह से यात्रियों का आवागमन बहुत कम है जिसकी वजह से तेजस ट्रेन का संचालन अभी फिलहाल के लिए 23 तारीख से बंद किया जा रहा है. आगे फिर से इसे कब शुरू करना है यह कुछ दिन बाद तय किया जाएगा.

देश की पहली कॉरपोरेट ट्रेन तेजस लखनऊ से दिल्ली के बीच चलती है. इसे आईआरसीटीसी द्वारा चलाया जाता है. इस ट्रेन को पूरी तरह से वीआईपी बनाया गया है. पहले महीने में ही मुनाफा कमाने से तेजस की सफलता काफी बढ़ गई थी. इस बीच वाराणसी से इंदौर के बीच महाकाल एक्सप्रेस का संचालन आईआरसीटीसी को दे दिया गया.

 

तेजस ट्रेन को नहीं मिल रहे पैसेंजर्स

तेजस एक्सप्रेस ट्रेन के बंद होने के पीछे यात्रियों की संख्या में कमी बताई जा रही है. कोरोना संक्रमण के बीच वीआईपी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस में सफर करने के लिए बहुत कम यात्रियों ने बुकिंग कराई, जिसकी वजह से रेलवे को इस ट्रेन के संचालन से कोई खास आमदनी नहीं हो रही है.

यात्रियों की कम संख्या को देखते हुए IRCTC ने इस ट्रेन को निरस्त करने के लिए पत्र लिखा था. इसके बाद रेलवे बोर्ड ने 23 नवंबर से अगले आदेश तक तेजस ट्रन की सभी सेवाओं को रद्द करने का फैसला किया. बता दें कि अक्टूबर 2019 में देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस की शुरुआत हुई थी.

 

कब शुरू हुई थी तेजस एक्सप्रेस?

IRCTC ने लखनऊ-दिल्ली-लखनऊ तेजस एक्सप्रेस अक्टूबर, 2019 में शुरू की थी. इसेक बाद अहमदाबाद-मुंबई के बीच इस साल जनवरी में तेजस एक्सप्रेस का संचालन हुआ. बता दें कि रेलवे ने 17 अक्टूबर 2020 यानी नवरात्र के पहले दिन ही तेजस ट्रेन का पुन: संचालन किया था. कोरोना महामारी के बाद लॉकडाउन की वजह से तेजस एक्सप्रेस का परिचालन 19 मार्च यानी करीब सात महीने से बंद था.